जालंधर स्कूल में वैसाखी के अवसर पर अपना मनाया नया साल,जानिए पूरी ख़बर…

जालंधर स्कूल में वैसाखी के अवसर पर अपना मनाया नया साल,जानिए पूरी ख़बर…

Mbd webnews: जालंधर ( सुमेश शर्मा ) जैसे ही हमारे बिक्रमी संवत की शुरुआत होती है, हमारी कुदरत में और निखार आ जाता है। हमारा महान ऐतिहासिक त्यौहार वैसाखी भी खुशियाँ और उल्लास ले कर आ जाता है। इसी अवसर पर नामधारी प्रमुख सतगुरु दलीप सिंह जी की प्रेरणा से अपनी भारतीय संस्कृति को और उजागर करने के लिए जालंधर स्कूल और जालंधर विद्द्यक सोसाइटी की पूरी टीम ने मिलकर वैसाखी और नया साल बड़े धूम धाम से मनाया।

इस समागम की शुरुआत मूल-मन्त्र और शबद गायन से की गई।स्कूल के विद्यार्थियों की तरफ से सभ्याचारक प्रोग्राम पेश किये गये जिसमें लोकगीत, नाटक, कवितायेँ, भंगड़ा, गिद्दा और छोटे-छोटे बच्चों ने अपनी मनमोहक अदाओं से सब का मन मोह लिया। इस शुभ अवसर पर प्रोफेसर भूपिंदर सिंह  की बेटी गुरसिमरन कौर ने अपनी सुरमई आवाज़ में इलाही वाणी का कीर्तन कर समागम में चार चाँद लगा दिए।इनके साथ प्रोफेसर हरप्रीत सिंह ने हारमोनियम पर और सिमरप्रीत सिंह ने तबले पर संगत की। इस के इलावा छोटे बच्चों तरनप्रीत सिंह, भूपिंदर सिंह, प्रभनूर सिंह और महकप्रीत कौर ने शबद कीर्तन कर सब को निहाल किया। अंत में पढाई और अन्य कार्यो में उपलब्धियाँ प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को इनाम भी दिए गए। इस अवसर पर मुख्य अध्यापिका राजपाल कौर और जालंधर विद्यक सोसायटी के प्रधान पलविंदर सिंह ने आये हुए मुख्य मेहमानों और अभिभावकों का धन्यवाद किया और सम्मानित किया। राजपाल कौर ने सभी को सम्बोधित करते हुए कहा कि वैसाखी का त्यौहार हमारे इतिहास से जुडी अनेक अमिट और खास यादों को संजोये हुए है। इसी दिन साहबे कमाल सतगुरु गोबिंद सिंह जी ने खालसा पंथ की सृजना कर उन पांच प्यारों अर्थात सिंघों को साजा जिन्होंने अन्याय और जुल्मों से जूझते हुए अपने धर्म और देश की रक्षा की। इसी तरह 1857 को वैसाखी वाले दिन ही सतगुरु राम सिंह जी ने संत खालसे की सृजना कर पतित हो रही सिक्खी को पुनर्जीवित किया। राजपाल कौर ने बताया की इस महान अवसर पर हम आज सतगुरु दलीप सिंह जी की प्रेरणा से भारतीय संस्कृति के अनुसार नया साल भी मना रहे हैं ताकि हमारा समाज, हमारे बच्चे अपनी संस्कृति को हमेशा याद रख सकें उसके प्रति गर्व करें। इस के साथ ही मैडम ने रामनवमी के शुभ अवसर की भी सभी को बधाई दी और कहा कि आज के दिन इस त्यौहार की महानता और बढ़ गई है। अंत में सभी को प्रसाद और लंगर वितरित किया गया। इस मौके विशेष तौर पर श्रीमान संजू अरोड़ा , श्रीमान रवि सैनी  ( मीत प्रधान कांग्रेस जिला जालंधर ) राग-रत्न से सम्मानित प्रोफेसर भूपिंदर सिंह जी, सरदार रेशम सिंह , रिटायर्ड आर्मी कप्तान, ए. एम् ओ. डॉ हेमंत मल्होत्रा, डॉ. रुपाली कोहली  पहुंचे जिन्होंने आ कर बच्चों का होंसला बढ़ाया। इस के अलावा सरदार निर्मल सिंह , प्रीतम सिंह, धरमिंदर सिंह , तरसेम सिंह, सीनियर पत्रकार अमरजीत सिंह वेहगल, विकास शर्मा, लखविंदर पाठक, स्कूल का समूचा स्टाफ और अभिभावक हाजिर हुए। इस अवसर पर स्टेज का संचालन मैडम जसबीर कौर और संदीप कौर ने किया।