पंजाब में रविदास समाज द्वारा दी पंजाब बंद की काल का व्यापक असर, जालंधर शहर हर चौक पर जुटे लोग…

पंजाब में रविदास समाज द्वारा दी पंजाब बंद की काल का व्यापक असर, जालंधर शहर हर चौक पर जुटे लोग…

Mbdwebnews:(जालंधर)पंजाब में रविदास समाज ने दी बंद की काल का व्यापक असर देखने को मिल रहा है । जालंधर में सुबह हो रही बारिश के बावजूद लोग सड़कों पर उतरे और रास्ते रोक दिये। यह विरोध दिल्ली में गुरु रविदास मंदिर तोड़ने के कारण आज पंजाब बंद का ऐलान किया गया है ।इस बंद को लेकर सूबे की सरकार ने सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए हैं । पंजाब के सभी जिलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है । सबसे ज्यादा दोआबा में सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है ।

क्योंकि यही से अधिकतर तोड़फोड़ की खबरे पहले भी आती रही है। वही एहतियात के तौर पर जालंधर, होशियारपुर, कपूरथला और गुरदासपुर के सारे शिक्षण संस्थान को बंद कर दिया गया है ।

सी एम सिटी पटियाला प्रशासन ने कहा है कि यहां पर स्थिति नियंत्रण में है । इसलिए यहां पर छुट्टी की जरूरत नहीं है । पटियाला के डीसी कुमार अमित ने कहा है कि यहां पर सुरक्षा के पर्याप्त बंदोबस्त किए गए हैं । वहीं नवाशहर में भी छुट्टी का ऐलान नहीं किया गया है । वहीं अमृतसर में सरकारी संस्थान खुले हुए हैं लेकिन कुछ प्राइवेट स्कूल मंगलवार को भी बंद हैं ।

इस बीच पंजाब सरकार में मंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और अरुणा चौधरी ने सोमवर को ऐतिहासिक मंदिर को गिराए जाने के फैसले को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का एजेंडा करार दिया । साथ ही उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले पर दुख और गुस्सा भी जताया था ।जालंधर के डिप्टी कमिश्नर वरिंदर के शर्मा ने कहा है कि छात्रों को परेशानी का सामना न करना पड़े, इसके लिए शहर के सभी शिक्षण संस्थानों को मंगलवार के लिए बंद रखा गया है ।

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश बाद नई दिल्ली के तुगलकाबाद में श्री गुरु रविदास जी का प्राचीन मंदिर तोड़ने का मामला पंजाब में एक बड़ा मुद्दा बन गया है ।

इसको लेकर राज्य के कई शहरों में जमकर प्रदर्शन हुए । वहीं संगठनों द्वारा पंजाब बंद के ऐलान के बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी से दखल की अपील भी की थी ।