बालाकोट स्ट्राइक के हीरो विंग कमांडर अभिनंदन ने  इंस्टीट्यूट ऑफ एयरोस्पेस मेडिसिन के टेस्ट पास किया , जल्द भरेंगे उड़ान..

बालाकोट स्ट्राइक के हीरो विंग कमांडर अभिनंदन ने  इंस्टीट्यूट ऑफ एयरोस्पेस मेडिसिन के टेस्ट पास किया , जल्द भरेंगे उड़ान..

Mbdwebnews: भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन ने बंगलूरू स्थित इंस्टीट्यूट ऑफ एयरोस्पेस मेडिसिन के टेस्ट को पास कर लिया है। अब वह अगले पखवाड़े तक दोबारा मिग-21 लड़ाकू विमान उड़ा सकेंगे। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी। वर्तमान ने मिग-21 बाइसन लड़ाकू विमान से जम्मू-कश्मीर के नौशेरा में पाकिस्तान के एफ-16 विमान को डॉगफाइट में 27 फरवरी को मार गिराया था।
इंस्टीट्यूट ऑफ एयरोस्पेस मेडिसिन के पास किसी पायलट की फिटनेस को प्रमाणित करने का अधिकार है। इसने विंग कमांडर को उड़ान भरने के लिए पूरी तरह से फिट बताया है। वर्तमान उस लड़ाकू बेड़े का हिस्सा थे जिन्हें पाकिस्तान वायुसेना के एफ-16 विमान को जवाब देने के लिए 27 फरवरी, 2019 में जम्मू-कश्मीर भेजा गया था। इससे एक दिन पहले 26 फरवरी की आधी रात को वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में मौजूद आतंकी ठिकानों को नष्ट कर दिया था।

वायुसेना ने खैबर पख्तूख्वां के बालाकोट में मौजूद जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों को निशाना बनाने के लिए मिराज 2000 लड़ाकू विमान का इस्तेमाल किया था। अगले दिन पाकिस्तान ने इस कार्रवाई का जवाब देने की कोशिश की और अपने लड़ाकू विमानों को नियंत्रण रेखा के पास मौजूद भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने के लिए भेजा। हालांकि वह अपने मंसूबों में असफल रहा और उसे भारत की तरफ से मुंहतोड़ जवाब दिया गया।

विंग कमांडर अभिनंदन ने अपने मिग-21 विमान से पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मार गिराया। एफ-16 का निर्माण अमेरिका ने किया है और यह मिग-21 के मुकाबले ज्यादा एडवांस है। एफ-16 को मार गिराने के बाद वर्तमान को अपने विमान से कूदना पड़ा और वह गलती से पाक अधिकृत कश्मीर में उतर गए। जिसके बाद उन्हें पाकिस्तानी सेना ने पकड़ लिया। अंतरराष्ट्रीय दबाव में पाकिस्तान को उन्हें रिहा करना पड़ा और करीब 60 घंटों के अंदर अभिनंदन वापस स्वदेश लौट आए थे।

वायुसेना के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘कुछ कागजी कार्रवाई है जो विंग कमांडर अभिनंदन को उड़ान भरने से पहले पूरी करनी है और उन्हें एक शॉर्ट रिफ्रेशर कोर्स करना होगा क्योंकि वह पिछले कुछ महीनों से विमान नहीं उड़ा रहे थे। हम उम्मीद कर रहे हैं कि वह अगले पखवाड़े तक दोबारा उड़ान भरेंगे।’ वहीं वायुसेना ने अभिनंदन के लिए वीर चक्र की सिफारिश की है। माना जा रहा है कि 15 अगस्त को इसे लेकर घोषणा हो सकती है।

सौजन्य:अ. उजाला