सड़को पर घूमते आवारा सांड ने महिला को किया घायल ,शहर में खुलेआम घूमती है मौत,प्रशासनिक अधिकारी मौन….

सड़को पर घूमते आवारा सांड ने महिला को किया घायल ,शहर में खुलेआम घूमती है मौत,प्रशासनिक अधिकारी मौन….

Mbdwebnews: जालंधर (सुमेश शर्मा ) पंजाब के हर शहर में आवारा घूमते सांडों का आतंक दिन बर दिन बढ़ता जा रहा है लेकिन जालंधर में यह समस्या कुछ ज्यादा घातक होती जा रही है। लेकिन जालंधर नगर निगम को इस बात की कोई खास चिंता प्रतीत ही नहीं होती । शहर के चुनिदा विधायक और पार्षद इस समस्या से मुँह फेर के ऐसे बैठे है जैसे कि यह समस्या उनकी नही बल्कि आम जनता की हो , शहर का कोई हिस्सा इस समस्या से अछूता नही है

नकोदर रोड, बस्ती रोड, रामामंडी, मकसूदां सब्जी मंडी,कैंट, कर कही हर जगह यह समस्या खड़ी है ,अभी ताजा मामला शहर में घूम रहे दो अवारा सांडों का है जो रोज लोगों पर हमला कर रहे हैं पर निगम की और से इन पर काबू पाने की कोई कोशिश नहीं की जा रही है। किशनपुरा में रविवार दोपहर लगभग 3 बजे अवारा सांड ने एक महिला पर हमला कर दिया जिसमें महिला गंभीर रुप से घायल हो गई। महिला को घायल अवस्था में अस्पताल भर्ती करवाया गया। जहां डॉक्टरों ने महिला के घुटने में फैक्चर बताया है। महिला शहर के एक वरिष्ठ पत्रकार की माता है जो उस समय किसी परिचित के घर कीर्तन के लिए जा रहीं थी।

निगम की कार्यशैली पर सवाल

शहर में बढ़ रहे आवारा आतंक के शिकार लोग कहां जाए। नगर निगम के अधिकारी शहर से 400 पशुओं को हटाए जाने की बात कह रहे हैं पर अभी भी शहर के कई इलाकों में स्थिति चिंताजनक है। लोग आवारा पशुओं के का शिकार बन रहे हैं और नगर निगम लापरवाह नजर आ रहा है। सवाल ये है कि नगर निगम को काउ सेस का पैसा भी आ रहा है । नया वाहन खरीदते समय भी एजेंसी वाले काऊ टैक्स के नाम पर वसूली कर रहे है।लेकिन फिर भी शहर में इन आवारा पशुओं पर काबू पाने में निगम असमर्थ क्यों है ?


जालंधर अमृतसर हाईवे पर खुलेआम घूमते सांड कई बार बड़ी दुर्घटना का कारण बन चुके है।अभी भी प्रशसनिक अधिकारियों की नींद नही टूटी । क्या प्रशासनिक अधिकारी केवल तनख्वाह लेने तक ही सीमित है ?